न बकरी, न वापिस पैसा यह कैसा इन्साफ, गरीब किसान काट रहे पशु पालन विभाग के चक्र

सरकार द्वारा चलाई गई बकरी पालन योजना के लिए हजारों रुपए जमा करवा चुके गरीब किसान अपने आप को कर रहें हैं ठगा सा महसूस ।
 | 
 गरीब किसान, उप- निदेशक पशुपालन विभाग कार्यालय हमीरपुर

हमीरपुर  । सरकार द्वारा चलाई गई बकरी पालन योजना के लिए हजारों रुपए जमा करवा चुके गरीब किसान अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहें हैं। पिछले लगभग 8 महीनें पहले गरीब किसानों ने अपने खून-पसीने की कमाई से बकरी पालन योजना के अंतर्गत हज़ारों रुपए तो जमा करवा दिए। लेकिन आज दिन तक उन्हें न तो उन्हें एक भी बकरी मिली न वापिस पैसा, तो यह ग़रीबों के साथ इन्साफ कैसा ? यही प्रश्न  गरीब किसान, उप- निदेशक पशुपालन विभाग कार्यालय हमीरपुर से पूछते नजर आए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पशु पालन विभाग के माध्यम से  बीपीएल परिवारों को योजना के अंतर्गत बकरियां दी जाती हैं । बकरियों को लेने के लिए विभागीय दिशानिर्देशों के अनुसार बीपीएल परिवारों ने लगभग 8 महीने पहले बैंक से लोन लेकर या फिर कहीं से उधार ले कर धन- राशि पशुपालन विभाग के पास जमा करवा दी थी। उस समय लोगों को यह कहा गया कि बकरियां एक महीने के अंदर मिल  जाएंगी , लेकिन आज दिन तक विभाग  सम्बंधित शिकायत कर्ता  लोगों को एक भी बकरी नहीं दे सका ।
लोगों ने आरोप लगाया कि विभाग के चक्र काटते-काटते उन के जूते भी घिस गए,  लेकिन हर बार उन्हें सिवाय आश्वासनों के कुछ नहीं मिला । ये सब  लोग अब बकरियों लेने की बजाए विभाग के पास जमा करवाए गए अपने हजारों रुपए वापस मांग रहे हैं।  इन लोगों का कहना है कि  उन्होंने उधार लेकर इस योजना के तहत बकरियों की खरीद के लिए पैसा विभाग में जमा करवाया है। बैंक तो  हर महीने ब्याज की मोटी रकम इन से मांग रहा है । 
पशु औषधालयों के माध्यम से यह पैसा विभाग ने योजना में जमा करवाया है। महीनों बीत जाने के बाद भी इन लोगों को बकरियां नहीं मिलीं।  जिला में काफी संख्या में लोग हैं, जिन्होंने अपने हजारों रुपए विभाग में जमा करवा रखे हैं। बकरियां न मिलने से अब लोगों का गुस्सा फूट रहा है। इसी के चलते   कई लोग उपनिदेशक पशुपालन विभाग के कार्यालय में शिकायत लेकर फिर  पहुंचे। उन्होंने विभाग से दो टूक कह दिया है  कि इन्हें इनका जमा किया गया पैसा ब्याज सहित लौटाया जाए। उन्होंने जिन लोगों से पैसा उधार ले रखा है उन्हें भी ब्याज सहित ही लौटाना पड़ेगा। ऐसे में इन्हें पैसा ब्याज सहित वापस कर दिया जाए।
हालांकि पैसा वापस मिलेगा या फिर बकरियां ही दी जाएंगी, इसे लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। मीडिया को जानकारी मिली हैं कि कुछ समय पहले  बीपीएल परिवारों को  सुजानपुर में योजना के तहत बकरियां दी भी गईं थी, लेकिन उनमें से कई बकरियों की मौत हो गई। ऐसे में इन लोगों का कहना है कि उन्हें बकरियां नहीं बल्कि जमा करवाया गया पैसा ब्याज सहित चाहिए। हालांकि विभाग असमंजस की स्थिति में है। विभाग का दावा है कि रुपए वापस करने का निर्णण निदेशक स्तर से ही होगा। 
विभाग के पास महीनों पहले  अपनी जमा की गई धन-राशि वापिस मांगने आए, कंवर विरेंद्र सिंह, कपिल, सुमनलता, ज्योती देवी व शिखा सहित अन्यों ने विभाग से मांग की है कि उनका जमा करवाया गया हजारों रुपये ब्याज सहित वापिस किए जाए। अब ये लोग अपने-आप को ठगा सा महसूस कर रहे हैं।
उधर उप निदेशक पशुपालन विभाग हमीरपुर, मनोज कुमार ने बताया कि योजना के अंतर्गत बीपीएल परिवारों को बकरियां दी जाती हैं। ठंड के कारण कुछ बकरियां मर गईं थी। लोगों ने योजना का लाभ लेने के लिए रुपए जमा करवाए हैं। लोग पैसा वापस मांग रहे हैं, इसे लेकर उच्चस्तर तक पत्राचार के माध्यम से  अवगत करवा दिया गया है। इस पर जो भी फैसला होगा, वह  प्रदेश सरकार के स्तर से ही होना है। 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहांक्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमेंगूगल न्यूज पर फॉलो करें।