मनकोटिया बोलेः कांग्रेस डूबता जहाज, कैप्टन का इस्तीफा अच्छा संकेत नहीं

मेजर विजय सिंह मनकोटिया ने कहा कि वह पार्टी बनाने का विकल्प तलाश रहे हैं। कई पूर्व और वर्तमान विधायक उनके संपर्क में हैं।

 | 
major vijay singh mankotia

धर्मशाला। पूर्व मंत्री मेजर विजय सिंह मनकोटिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी डूबता जहाज है। पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह एक ईमानदार व कर्मठ नेता हैं। उनके कांग्रेस छोड़ने के बयान से हलचल है। हिमाचल प्रदेश में उपचुनाव होने वाले हैं और 2022 में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। पंजाब की घटना का असर उत्तर भारत और अन्य राज्यों में पड़ेगा। कैप्टन ने कांग्रेस से असंतुष्ट अन्य नेताओं के साथ मिलकर नई पार्टी बनाने की बात कही है। ऐसा लगता है कि कांग्रेस अपने पतन की ओर है। गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री ने टीएमसी का दामन थामा लिया है, अन्य जगह भी ऐसा ही सिलसिला चल रहा है। मनकोटिया रविवार को धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। 

उन्होंने कहा कि वर्तमान में स्थिति ऐसी है कि देश में कांग्रेस के दोफाड़ होने का खतरा पैदा हो गया है। प्रदेश में भी कांग्रेस इसका खमियाजा भुगतेगी। कांग्रेस हिमाचल प्रदेश में भी बंटी हुई है। धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत के दौरान मनकोटिया ने एक पत्र भी शेयर किया। यह पत्र फतेहपुर विधानसभा के लोगों ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी सहित उन्हें भी भेजा है। मनकोटिया ने कहा कि पत्र में साफ लिखा है कि कांगड़ा जिला के 15 में से 13 विधानसभा सीटों पर परिवारवाद हावी है। पहले पिता विधायक थे, अब उनके बेटे विधायक हैं या बनने की तैयारी में हैं। जबकि कार्यकर्ताओं को वो मान सम्मान नहीं मिला, जिसके वह हकदार हैं। पार्टी हाईकमान को पत्र के माध्यम से पार्टी की भीतरी की स्थिति बताई है। 

मनकोटिया ने कहा उनका मानना है कि कांग्रेस में बड़े सुधार की जरूरत है। कैप्टन के इस्तीफे से उत्पन्न घटनाक्रम अच्छा संकेत नहीं है। 10-15 दिनों में कैप्टन पार्टी की घोषणा करेंगे। जमानत पर छूटे लोगों को टिकट नहीं मिलनी चाहिए। राजनीति का शुद्धिकरण करना है तो इसके लिए यह जरूरी है। मनकोटिया ने कहा कि वह भी एक पूर्व फौजी हैं और सभी पूर्व फौजी कैप्टन अमरिंदर सिंह का समर्थन करते हैं उन्हें स्पोर्ट करते हैं। मनकोटिया ने कहा कि मैं अभी मैदान में हूं। भाजपा में जाने का कोई विचार नहीं है। अलग पार्टी बनाने का विकल्प तलाश रहे हैं। इसके लिए कुछ विधायक व पूर्व विधायक व अन्य लोग उनके संपर्क में हैं।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।