टिकट आबंटन पर बवालः अर्की में ब्लॉक कांग्रेस का इस्तीफा, फतेहपुर में बगावत

फतेहपुर में निश्चित तौर पर चुनावी रण काफी रोचक होने वाला है। कांग्रेस के भवानी पठानिया और हमारी पार्टी हिमाचल पार्टी के डॉ. राजन सुशांत के साथ अब भाजपा की तरफ से कौन चुनावी रण में कूदता है यह देखना दिलचस्प होगा।
 | 
congress

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश में होने जा रहे उप चुनाव के लिए कांग्रेस ने प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिए हैं। इसके साथ ही कांग्रेस में बगावती चिंगारियां शोला बनकर धधकने लगी हैं। एक तरफ अर्की विधानसभा क्षेत्र में संजय अवस्थी को टिकट देने के विरोध में ब्लॉक कांग्रेस ने इस्तीफा दे दिया है। वहीं कांगड़ा जिला के फतेहपुर से भी भवानी पठानिया को टिकट मिलने के बाद बगावत का ऐलान हो गया है। अब यहां भी कांग्रेस के खिलाफ आजाद उम्मीदवार उतरने को तैयार हो गए हैं। अब उनका ऐलान बाकी रह गया है।


फतेहपुर से भवानी पठानिया को टिकट देने के विरोधी नेताओं ने एक बैठक कर आजाद प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ने की तैयारी कर ली है। हालांकि इसकी औपचारिक घोषणा बुधवार को की जाएगी। संभावना यह है कि ठाकुर निश्वार सिंह या राघव पठानिया कांग्रेस प्रत्याशी के खिलाफ चुनावी समर में कूदेंगे। चेतन चम्बियाल और रीता गुलेरिया इनका साथ देंगे। यह चारों लोग शुरू से ही भवानी पठानिया को टिकट देने का विरोध करते रहे हैं। और अपनी बात इन्होंने कांग्रेस के प्रदेश से लेकर केंद्रीय आलाकमान तक भी रखी है।


बुधवार को होने वाली बैठक में अंतिम फैसला लिया जाएगा कि आखिरकार चुनाव में बागियों का प्रत्याशी कौन होगा? ठाकुर निश्वार सिंह ने कहा कि हमने पहले भी कांग्रेस आलाकमान से आग्रह किया था कि पैराशूटी नेता हमारे ऊपर न थोपा जाए, लेकिन आलाकमान ने कार्यकर्ताओं को दरकिनार कर, परिवारवाद को बढ़ाने का काम किया है। यदि एक परिवार को ही टिकट देना है तो परिवार अपने दम पर चुनाव लड़ता रहें। कार्यकर्ताओं से सहयोग की उम्मीद न करें। अब आलाकमान को चुनाव लड़कर संदेश देंगे कि कार्यकर्ताओं की अनदेखी पार्टी पर भारी पड़ सकती है।


रोचक होगा फतेहपुर में चुनावी रण
फतेहपुर में निश्चित तौर पर चुनावी रण काफी रोचक होने वाला है। यहां कांग्रेस और हमारी पार्टी हिमाचल पार्टी के प्रत्याशी तय हैं। यानि भवानी पठानिया और डॉ. राजन सुशांत के साथ अब भाजपा की तरफ से कौन चुनावी रण में कूदता है यह देखना दिलचस्प होगा। दोनों दलों भाजपा और कांग्रेस की फतेहपुर में बगावत का फायदा कहीं तीसरे को न मिल जाए। गौरतलब है कि फतेहपुर से कांग्रेस प्रत्याशी घोषित किए भवानी पठानिया दिवंगत पूर्व मंत्री सुजान सिंह पठानिया के बेटे हैं। सुजान सिंह पठानिया के देहांत के बाद ही फतेहपुर में उपचुनाव हो रहा है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।