दियोटसिद्ध Temple की दुकानों को शनिवार व रविवार को बंद करने के निर्णय में दी जाए छूट

दियोटसिद्ध मंदिर (Deotsidh Temple) के समस्त दुकानदारों व व्यापार मंडलों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर  (CM Jai Ram Thakur) और जिलाधीश हमीरपुर  (DC Hamirpur) से मांग की है कि शनिवार, रविवार को बंद करने के निर्णय से छूट दी जाए।
 | 
.

बड़सर।  उत्तरी भारत के प्रसिद्ध सिद्धपीठ बाबा बालक नाथ मंदिर दियोटसिद्ध (Baba Balak Nath Temple Deotsidh) के समस्त दुकानदारों व व्यापार मंडलों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) और जिलाधीश हमीरपुर (DC Hamirpur) से मांग की है कि शनिवार, रविवार को बंद करने के निर्णय से छूट दी जाए। उन्होंने कहा कि शनिवार व रविवार को सभी दुकानों को बंद करने संबंधी लिए गए निर्णय से धार्मिक स्थल दियोटसिद्ध के दुकानदारों व देश विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं पर पडऩे बाले प्रभाव की तरफ  दिलाना चाहते है।  


 बताते चलें कि बाबा बालक नाथ मंदिर दियोटसिद्ध (Baba Balak Nath Temple Deotsidh) उत्तरी भारत का एकमात्र सिद्धपीठ है। रविवार को बाबा बालक नाथ जी (Baba Balak Nath ji) का वार माने जाने के कारण यहां भक्त माथा टेकने पहुँचते है। विशेषत: शनिवार व रविवार को ही माथा टेकने के लिए लिए श्रद्धालुओं के आने की बजह से यहाँ पर स्थित सभी दुकानदारों की रोजी रोटी निर्भर है। व्यापार मंडल के प्रधान संजय कुमार (Sanjay Kumar0 ने कहा कि सभी दुकानदार विशेषत: शनिवार व रविवार के दिन होने बाले व्यवसाय पर ही आश्रित है।

यह भी पढ़ेंः-   Hamirpur : दलचेहड़ा में पंचायत सचिव की तैनाती करें सरकार

इसलिए  जिला प्रशासन हमीरपुर के इस निर्णय के कारण सैंकड़ो परिवारों की रोजी रोटी पर संकट की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी। पूर्व में मंदिरो के बंद रहने से हम सब व्यापारियों ने भारी आर्थिक नुक्सान झेला है  तथा अब मंदिर खुलने पर मुश्किल से हमारी रोजी रोटी का शुरू हुई है। इसलिए आपसे आग्रह है कि हमारी समस्या को समझते हुए आप धार्मिक स्थल बाबा बालक नाथ मंदिर दियोटसिद्ध (Baba Balak Nath Temple Deotsidh) में स्थित दुकानों को शनिवार व रविवार के दिन के बंद रखने के निर्णय में छूट प्रदान की जाए, ताकि गरीब दुकानदारों व श्रद्धालुओं को राहत मिल सके। 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहांक्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमेंगूगल न्यूज पर फॉलो करें।