हिमाचल उपचुनावः भाजपा चुनाव समिति की बैठक संपन्न, इन नामों पर बनी सहमति

भाजपा ने रविवार को धर्मशाला में बैठक कर प्रत्याशियों के चयन को लेकर गंभीर मंथन किया। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष कश्यप ने कहा कि उपचुनावों में भाजपा चारों सीटों पर जीत दर्ज करेगी
 | 
हिमाचल भाजपा चुनाव समिति की बैठक धर्मशाला में संपन्न, इन नामों पर बनी सहमति

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश में होने वाले उपचुनाव को लेकर सियासी हलचल तेज हो गई है। भाजपा और कांग्रेस में प्रत्याशियों के चयन को लेकर खूब मंथन हो रहा है। शनिवार को जहां कांग्रेस ने अपने प्रत्याशियों के नाम चयनित कर हाईकमान को भेज दिए हैं, जबकि भाजपा ने रविवार को धर्मशाला में बैठक कर प्रत्याशियों के चयन को लेकर गंभीर मंथन किया। प्रदेश महामंत्री त्रिलोक कपूर ने कहा कि बैठक दो भागों में हुई। पहले भाग में सभी क्षेत्रों के प्रभारियों, सह प्रभारियों एवं समन्वयकों से अपने-अपने क्षेत्रों का फीडबैक लिया गया।

धर्मशाला के होटल डी पोलो में रात 9:30 बजे तक चली प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में 14 सदस्यीय वरिष्ठ नेता चार सीटों से एक-एक प्रत्याशी का नाम तय नहीं कर पाए। ऐसे में मंडी से पांच, फतेहपुर से चार, अर्की से तीन और जुब्बल-कोटखाई से दो दावेदारों का पैनल फाइनल किया गया। सोमवार को इसे हाईकमान को भेजा जाएगा। अब दिल्ली में ही चारों सीटों के लिए एक-एक नाम तय होगा। बता दें कि बीते दिन ही कांग्रेस ने मंडी, फतेहपुर और जुब्बल कोटखाई से एक-एक और अर्की से दो नाम हाईकमान को भेजे हैं। 


उधर, बताया जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल बैठक को बीच में छोड़कर ही चले गए, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार शामिल ही नहीं हुए। धर्मशाला में अपराह्न चार बजे से चली बैठक में मंडी से महेश्वर सिंह, ब्रिगेडियर खुशाल सिंह, अजय राणा, निहाल चंद और पंकज जम्वाल के नाम तय किए गए। अर्की सीट से रतनपाल सिंह, गोविंद राम शर्मा, आशा परिहार, फतेहपुर से कृपाल परमार, बलदेव ठाकुर, रीता ठाकुर और पंकज ठाकुर जबकि जुब्बल कोटखाई से चेतन बरागटा और नीलम सरैइक के नाम पैनल में भेजे जाएंगे।

इससे पहले प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप की अध्यक्षता में बैठक में हिमाचल के शीर्ष नेताओं ने उम्मीदवारों को तय करने को लेकर अपनी-अपनी राय रखी। फीडबैक के बाद बैठक में उम्मीदवारों का पैनल बनाने का फैसला हुआ। सूत्रों की मानें तो बैठक में मंडी सीट से एक ब्राह्मण उम्मीदवार पर भी चर्चा हुई। कहा गया कि मौजूदा विधायक के अलावा किसी और को भी चुनावी मैदान में उतारा जाए। परिवारवाद और गुटबाजी पर भी मंथन हुआ। बैठक में हिमाचल के प्रभारी सौदान सिंह, प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, सह प्रभारी संजय टंडन के अलावा मंत्री, विधायक और अन्य नेता उपस्थित रहे। 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।