लोकसभा उपचुनावः प्रचार पर 77 लाख ही खर्च कर सकेंगे उम्मीदवार

निष्पक्ष एवं पारदर्शी चुनाव करवाने के लिए व्यय पर्यवेक्षक ने सहायक पर्यवेक्षकों के साथ बैठक कर प्रचार अभियान की नियमित निगरानी के निर्देश दिए।

 | 
MP Candidates spend only 77 lakhs on campaigning

मंडी। मंडी लोक सभा क्षेत्र के उप चुनाव के लिए नियुक्त व्यय पर्यवेक्षक भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी विमल कुमार मीणा ने शुक्रवार को मंडी में उपायुक्त कार्यालय सभागार में जिला मंडी और कुल्लू के सहायक व्यय पर्यवेक्षकों की बैठक की। बैठक में उन्होंने पर्यवेक्षकों को निर्देश दिए कि चुनाव के दौरान राजनीतिक दलों एवं उम्मीदवारों के खर्च पर पैनी नजर रखें, ताकि निष्पक्ष एवं पारदर्शी चुनाव करवाए जा सकें। उन्होंने चुनावी खर्चों को नियमित लिखने की हिदायत देते हुए कहा कि चुनाव व्यय नियंत्रण में निर्वाचन आयोग के निर्देशों का कड़ाई से पालन करें। 


विमल कुमार मीणा ने बैठक में सहायक व्यय पर्यवेक्षकों के कार्यों एवं दायित्वों पर प्रकाश डाला और उन्हें क्या करना एवं क्या नहीं करना के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने ने कहा कि सहायक व्यय पर्यवेक्षक फ्लाईंग स्क्वाइड, वीडियो सर्विलांस एवं स्टेटिक निगरानी टीमों के साथ आपसी समन्वय से काम करें और उम्मीदवारों के चुनावी खर्चे का पर नजर रखें। हर दिन चुनावी खर्चे की रिपोर्ट उन्हें सौंपे और रिपोर्ट से जुड़े तथ्य भी प्रस्तुत करें। कहा कि प्रत्याशियों के व्यय के आंकलन के लिए चुनावी रैलियों की विडीयोग्राफी करवाएं, ताकि इन पर होने वाले खर्च का अनुमान लगाया जा सके। 

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार के लिए अधिकतम व्यय सीमा 77 लाख है इससे अधिक व्यय नहीं किया जा सकता है। व्यय पर्यवेक्षक ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि चुनाव व्यय से जुड़ी और चुनाव के दौरान रिश्वत के लेन-देन संबंधी शिकायत उनसे दूरभाष के माध्यम से या व्यक्तिगत तौर की जा सकती है। इसके लिए उनके मोबाइल नंबर 9015427002 पर संपर्क करें। वे मंडी विद्युत विभाग के टारना स्थित विश्राम गृह के कमरा नंबर 8 में ठहरे हैं तथा लोग दूरभाष नंबर 01905-227806 पर भी उनसे चुनावी व्यय से जुड़ी शिकायत कर सकते हैं।


बैठक में उपायुक्त अरिंदम चौधरी ने मंडी संसदीय क्षेत्र के उप चुनाव के लिए नियुक्त केंद्रीय व्यय पर्यवेक्षक को आश्वस्त किया कि चुनाव से जुड़ी प्रत्येक तैयारी को पूरा किया गया है। निगरानी टीमें स्वतंत्र, पारदर्शी तथा भयमुक्त चुनाव सम्पन्न करवाने के लिए तत्पर है। बैठक में अतिरिकत उपायुक्त जतिन लाल, निर्वाचन तहसीलदार विजय कुमार शर्मा भी उपस्थित थे ।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।