सड़क हादसे के घालय को अस्पताल लाओ, सरकार से 5 हजार इनाम पाओ

सड़क हादसों में घायल हुए लोगों की जान बचाने और सड़क हादसों में मृत्यु दर को कम करने के लिए सरकार ने ‘नेक मददगार को पुरस्कार देने की योजना’ शुरू की है। 

 | 
accident

नई दिल्ली। पुलिस के चक्कर में कौन पड़ेगा? कहीं हम ही न फंस जाएं! अस्पताल और पुलिसवाले हमें ही परेशान करेंगे! ये कुछ ऐसे वाक्य हैं, जो सड़क पर दुर्घटना के बाद घायल अवस्था में पड़े दर्द से कराह रहे व्यक्ति की मदद करने से हम सभी को रोकते हैं। पुलिस और सरकारें बार-बार कहती हैं कि दुर्घटना में घायल व्यक्ति की मदद करना मानवता की सेवा है। और ऐसा करने पर आपको पुलिस परेशान नहीं करेगी। इसके बावजूद आम लोग डर के मारे घायल को अस्पताल पहुंचाने में कतराते हैं। अब केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने इसके लिए एक अनूठी पहल की है। 
 


सड़क हादसों में घायल हुए लोगों की जान बचाने के लिए केंद्र सरकार ने एक बड़ी पहल की है। सड़क हादसों में मृत्यु दर को कम करने के लिए सरकार ने ‘नेक मददगार को पुरस्कार देने की योजना’ शुरू की है। योजना के तहत सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हुए व्यक्ति को एक घंटे के भीतर अस्पताल पहुंचाने वाले शख्स को सरकार की तरफ से 5 हजार रुपये इनाम दिया जाएगा। 4 अक्तूबर को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। इस योजना का मकसद लोगों को आपातकालीन स्थिति में लोगों की मदद के लिए प्रेरित करना है। 


इसको लेकर मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रधान सचिवों और परिवहन सचिवों को पत्र लिखा है। इस पत्र में मंत्रालय ने कहा है कि ये योजना 15 अक्टूबर 2021 से 21 मार्च 2026 तक लागू रहेगी। इस योजना के तहत सड़क हादसे में घायल हुए पीड़ित को एक घंटे के भीतर अस्पताल पहुंचाने वाल मददगार को सरकार 5 हजार रुपये इनाम देगी। इसके साथ ही मददगार को एक प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा। इतना ही नहीं सरकार राष्ट्रीय स्तर पर 10 सबसे नेक मददगारों को एक-एक लाख रुपये ईनाम भी देगी।
 

योजना में क्या है खास
सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की योजना के अनुसार अगर सड़क हादसे में घायल हुए व्यक्ति को एक ही मददगार अस्पताल पहुंचाता है तो उसे 5 हजार रुपये इनाम मिलेगा। वहीं अगर एक से ज्यादा मददगार होते हैं तो यह राशि समान रूप से सभी में बांटी जाएगी। इसके साथ ही अगर हादसे में एक से ज्यादा घायलों को कुछ मददगार मिलकर अस्पताल में पहुंचाते हैं तो प्रति घायल प्रति मददगार को 5 हजार रुपये इनाम दिया जाएगा।  

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।