हिमाचल के 3840 प्री प्राइमरी स्कूलों में होगी शिक्षकों की आउटसोर्स भर्ती

वर्तमान में 3740 स्कूलों में प्री प्राइमरी कक्षाएं चल रही हैं। इन कक्षाओं में करीब 47 हजार बच्चों ने दाखिले लिए हैं। शिमला। हिमाचल के प्री प्राइमरी स्कूलों में 3840 शिक्षकों की भर्ती आउटसोर्स पर हो सकती है। नियमित शिक्षक भर्ती कर उन्हें वेतन देने के लिए सरकार के पास पर्याप्त बजट नहीं है। केंद्र
 | 
हिमाचल के 3840 प्री प्राइमरी स्कूलों में होगी शिक्षकों की आउटसोर्स भर्ती

वर्तमान में 3740 स्कूलों में प्री प्राइमरी कक्षाएं चल रही हैं। इन कक्षाओं में करीब 47 हजार बच्चों ने दाखिले लिए हैं।

शिमला। हिमाचल के प्री प्राइमरी स्कूलों में 3840 शिक्षकों की भर्ती आउटसोर्स पर हो सकती है। नियमित शिक्षक भर्ती कर उन्हें वेतन देने के लिए सरकार के पास पर्याप्त बजट नहीं है। केंद्र सरकार से मानदेय मिलने पर सिर्फ अस्थायी तौर पर ही शिक्षक भर्ती हो सकते हैं। ऐसे में संभावित है कि सरकार कंप्यूटर शिक्षकों की तर्ज पर ही नर्सरी-केजी को पढ़ाने के लिए शिक्षकों की आउटसोर्स पर भर्ती करेगी।

मंगलवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने प्रदेश के प्री प्राइमरी स्कूलों में शिक्षकों को मानदेय देने की हामी भरी है। अभी जेबीटी के माध्यम से प्री प्राइमरी कक्षाएं पढ़ाई जा रही हैं। विभागीय अधिकारियों के अनुसार नर्सरी टीचर ट्रेनिंग करने वालों को इस भर्ती प्रक्रिया में प्राथमिकता दी जाएगी। 3840 शिक्षकों को केंद्र सरकार की ओर से मानदेय जारी होगा।

ऐसे में नियमित शिक्षकों की भर्ती नहीं हो सकेगी। उधर, केंद्र सरकार से शिक्षकों की भर्ती करने की मंजूरी मिलते ही शिक्षा विभाग ने भर्ती के लिए गाइडलाइन बनाने का काम शुरू कर दिया है। अन्य राज्यों के मॉडल को भी देखा जा रहा है। संभावित है मई के अंत तक शिक्षक भर्ती के नियम तैयार कर सरकार की मंजूरी के लिए भेज दिए जाएंगे।

केंद्र सरकार ने प्रदेश में 100 नए प्री प्राइमरी स्कूल खोलने की भी मंजूरी दी है। ऐसे में विभागीय अधिकारी ऐसे स्कूलों को भी चिन्हित करने में जुट गए हैं, जहां पर नर्सरी-केजी में दाखिले के लिए आवेदन बीते वर्ष आए थे। वर्तमान में 3740 स्कूलों में प्री प्राइमरी कक्षाएं चल रही हैं। इन कक्षाओं में करीब 47 हजार बच्चों ने दाखिले लिए हैं।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहांक्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमेंगूगल न्यूज पर फॉलो करें।