जीवन में कामयाब बनने की शिक्षा देता है गुरू : सत्ती

शिक्षक दिवस पर सतपाल सिंह सत्ती ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बहडाला में वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह में पिछले तीन शैक्षणिक सत्रों में अव्वल रहने वाले छात्र व छात्राओं को सम्मानित किया गया।
 | 
...

ऊना । शिक्षक दिवस भारत के पहले उप राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है। गुरु का स्थान माता-पिता, भगवान सबसे ऊपर है। हमें जन्म माता-पिता से मिलता है लेकिन हमें जीवन में जीने की शिक्षा, कामयाब बनने की शिक्षा सिर्फ गुरु देता है। सही मायने में शिक्षक सिर्फ वही व्यक्ति नहीं है जो हमें स्कूल, कॉलेजों में पढ़ाए, अपितु शिक्षक वो भी है जो जीवनपर्यन्त किसी न किसी रूप में हमें जीवन जीने की कला सिखाता है। यह बात छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने  राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बहडाला में आयोजित वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान कही।

इस वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह में पिछले तीन शैक्षणिक सत्रों में अव्वल रहने वाले छात्र व छात्राओं को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सत्ती ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में शिक्षा के क्षेत्र को सुदृढ़ किया गया है, जिसमें पाठशालाओं को स्तरोन्नत करना, पाठशालाओं में बच्चों को डिजिटल मोड से शिक्षा प्रदान करना और पाठशालाओं में शिक्षा से संबंधित प्रत्येक सुविधा बच्चों को उपलब्ध करवाने जैसे कार्य किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि बहडाला स्कूल के बच्चों ने राष्ट्रीय, राज्य, जिला व खंड स्तर पर अनेकों प्रकार की खेल गतिविधियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। खेलों से बच्चों का न केवल शारीरिक विकास होता है बल्कि मानसिक विकास भी होता है। उन्होंने बताया कि बहडाला स्कूल के पांच खिलाड़ियों ने योगा तथा जुडो प्रतियोगिता में चार खिलाड़ियों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। अत्या पाटया में राज्य स्तर पर प्रथम स्थान तथा वुशु खेलकूद प्रतियोगिता में दो गोल्ड, चार सिल्वर व पांच ब्रोंज मेडल हासिल कर जिला के साथ-साथ बहडाला स्कूल का नाम रोशन किया है। इसके अलावा राष्ट्रीय स्तर पर स्कूली बच्चों ने गुलमर्ग कश्मीर में आयोजित हुए शीतकालीन खेलों में चार खिलाड़ियों ने गोल्ड मेडल जीते हैं।

..

उन्होंने बताया कि बहडाला स्कूल के दो बच्चों ने पुडुचेरी में आयोजित अत्य पाटया राष्ट्रीय प्रतियोगिता और कर्नाटक के मेंगलुरू में आयोजित हुई बैडमिंटन प्रतियोगिताओं में भी भाग लिया है। विद्यालय के 30 बच्चों का चयन राज्य स्तर की युवा सांसद प्रतियोगिता के लिए हुआ है। शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य पर बहडाला विद्यालय के पूर्व शिक्षक राजेंद्र सिंह गिल, रामपाल, सतपाल व उमा शुक्ला को सम्मानित भी किया गया।

इस अवसर पर एपीएमसी के अध्यक्ष बलबीर सिंह बग्गा, बीडीसी सदस्य राधिका, उप निदेशक उच्च शिक्षा जनक सिंह, उप निदेशक प्रारंभिक शिक्षा देवेंद्र चंदेल, बहडाला प्रधान रमेश चंद, उप प्रधान अविनाश राणा, प्रधानाचार्य हरिश जोशी, सभी वार्ड सदस्य, विभिन्न स्कूलों के प्रधानाचार्य सहित स्कूल के समस्त स्टाफ सदस्य उपस्थित रहे।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहांक्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमेंगूगल न्यूज पर फॉलो करें।