एसीपीएस इंक्रीमेंट लाभ छीनने की अधिसूचनाएं लें वापिस

हिमाचल प्रदेश के कर्मचारियों को 4-9-14 के लाभ नाममात्र मिले या मिले ही नहीं जिसकी वजह वेतन वृद्धि देने की बजाय ग्रेड पे बढ़ने या पे बैंड बढ़ौतरी को ही वित्तीय लाभ करार देने की अधिसूचनाएं
 | 

 हमीरपुर ।  हिमाचल प्रदेश के कर्मचारियों को 4-9-14 के लाभ नाममात्र मिले या मिले ही नहीं जिसकी वजह वेतन वृद्धि देने की बजाय ग्रेड पे बढ़ने या पे बैंड बढ़ौतरी को ही वित्तीय लाभ करार देने की अधिसूचनाएं हैं । इन अधिसूचनाओं से पहले 8-16-24-32 की एसीपीएस स्कीम लागू थी जिसका कर्मचारियों को लाभ मिलता था ।

कर्मचारियों के करियर में उन्नति हेतु वित्तीय लाभ देने की यह स्कीम इस तरह बनाई गई थी कि वेतन आयोग के लाभों को एसीपीएस लाभ से अलग रखा जाता था लेकिन वर्ष 2006 से लागू पंजाब वेतन आयोग के लाभ में 8-16-24-32 के विकल्प को अधिकतम कर्मचारियों को न देते हुए 4-9-14 स्कीम लाभ लेने हेतु कहा गया और विकल्प लेने के बाद यह कहा गया कि वेतन आयोग में ग्रेड पे वृद्धि या पे बैंड बदलाव भी एसीपीएस इंक्रीमेंट लाभ हैं ।

इस अधिसूचना को रद्द करने की मांग राजकीय प्रशिक्षित कला स्नातक संघ प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कौशल व महासचिव विजय हीर ने प्रदेश सरकार से की है । इस अधिसूचना के करण प्रदेश के हजारों कर्मचारियों को देय वेतन वृद्धियाँ नहीं मिल सकी और प्रदेश में वित्त विभाग नियमित कर्मचारियों पर भी पदोन्नति के बाद नई ग्रेड पे पाने हेतु 2 साल की प्रोबेशन लगाने के चलते हर कर्मचारी को आर्थिक क्षति हो रही है ।

ऐसे में 2016 से देय वेतन आयोग भी वर्ष 2021 तक न मिला और 2016 से मिलने वाले वेतन आयोग लाभ के कारण फिर से कर्मचारियों को एक और वेतनवृद्धि से हाथ धोना होगा । इस तरह कर्मचारियों को देय 3 इंक्रीमेंट्स में से एक भी इंक्रीमेंट नहीं मिली है और प्रदेश के कर्मचारी जेसीसी बैठक में इस समस्या का समाधान चाहते हैं ।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।