जो कभी खेला ही नहीं, वह क्या जाने हार-जीतः धूमल

दीन हित मंडल द्वारा आयोजित बास्केटबॉल प्रतियोगिता की विजेता और उप विजेता रही टीमों को पूर्व मुख्यमंत्री ने स्मृति चिन्ह व नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया। 
 | 
.

हमीरपुर । जब कोई खिलाड़ी खेल मैदान में उतरता है उसकी जीत उसी समय सुनिश्चित हो जाती है। हार केवल उसकी होती है, जो खेल खेलता ही नहीं है। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने रविवार को सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र की पंचायत के सराहकर्ड में आयोजित दो दिवसीय बास्केटबॉल प्रतियोगिता के समापन अवसर पर कहीं। इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री ने मैच में विजेता और उप विजेता रही टीमों को स्मृति चिन्ह व नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया। 

दीन हित मंडल द्वारा आयोजित इस बास्केटबॉल प्रतियोगिता में 14 टीमों ने भाग लिया। फाइनल प्रतियोगिता का मैच रविवार को मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री के सामने हुआ। जिसमें  चमोह की टीम विजेता रही। मुख्य अतिथि ने विजेता टीम को 11000 व उपविजेता को 7000  रुपये एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

दीन हित मंडल द्वारा आयोजित यह बास्केटबॉल प्रतियोगिता 2 दिन तक आयोजित हुई  मुख्य अतिथि ने विजेता उपविजेता टीम को बधाई एवं शुभकामनाएं दी और कहा कि जीत और हार एक ही सिक्के के दो पहलू हैं जो जीता है वह खुशी मनाएं  लेकिन जो हारा है वह इस बात पर ध्यान दें कि उसकी हार जीत में क्यों नहीं बदल सकी। उसमें क्या कमी रही और उस कमी को किस तरह सुधारा जा सकता है । मेरा विश्वास है कि जब भी वह टीम अपना अगला मैच खेलेगी वह विजेता बनेगी। 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।