सड़कों पर भटकते रहे यात्री, सरकारी और निजी बसों के रूट अधिकतर बंद

मैहरे से बिझड़ी, बिझड़ी से बरठीं वाया चकमोह रैलीजजरी, बिझड़ी से चकमोह वाया घंगोट, दलचेहड़ा, बिझड़ी से भोटा वाया रोपड़ी, बिझड़ी से उखली वाया धंगोटा संपर्क मार्ग पर निजी व सरकारी बसें रविवार को नहीं चलती।

 | 
HRTC

हमीरपुर।  उपमंडल बड़सर की सड़कों पर निजी व सरकारी बस रूट रविवार को बंद रहने से लोगों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है। यही नहीं स्थानीय लोगों की गुहार के बावजूद निजी बस ऑपरेटरों की मनमानी बदस्तूर जारी है। ऐसे में ग्रामीणों को पैदल सफर तय करना पड़ता है या फिर टैक्सी ऑपरेटरों को मुंह मांगा किराया देना पड़ता है। बताते चलें कि उपमंडल की सड़कों पर रविवार के दिन बसें लगभग नदारद पाई जा रही हैं। निजी बसों के साथ साथ परिवहन निगम भी इस मामले में पीछे नहीं है।

हालांकि कोरोना के दौरान की बुरी स्थिति से अब बस आपरेटर निकल रहे हैं, लेकिन रविवार को कम सवारी का हवाला देकर ये अपनी जिम्मेवारी से पल्ला झाड़ रहे हैं। केवल परिवहन निगम के कुछ रूटों को छोड़कर बाक़ी बस आपरेटर रविवार की छुट्टी मनाते  रहते हैं। हालांकि निगम के जो रूट संपर्क मार्गों पर चलते हैं वे भी रविवार के दिन नहीं चलाए जाते, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में सारी परिवहन व्यवस्था ठप्प हो रही है। ऐसे में सरकार द्वारा विकास व जन कल्याण के तमाम दावे फेल होते दिखाई दे रहे हैं।

गौर रहे कि मैहरे से बिझड़ी, बिझड़ी से बरठीं वाया चकमोह रैलीजजरी, बिझड़ी से चकमोह वाया घंगोट, दलचेहड़ा, बिझड़ी से भोटा वाया रोपड़ी, बिझड़ी से उखली वाया धंगोटा संपर्क मार्ग पर निजी व सरकारी बसें रविवार को नहीं चलती। उपमंडल में ऐसे और भी कई संपर्क मार्ग हैं, जहां बसों के रूट बंद रहते हैं। त्योहारी व शादियों का सीजऩ शुरू होने के कारण अब लोगों को ज़्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों ने कहा कि जिन विभागों पर परिवहन व्यवस्था पर नजर रखने व अंकुश की जि़म्मेवारी है वे भी आंखें मूँद कर सोए हुए लगते हैं।

क्षेत्र के लोगों हरिराम, बिशन दास, राजेश कुमार, सीताराम, विनोद कुमार, विवेक ठाकुर सहित अन्य कई लोगों ने परिवहन विभाग से रविवार को क्षेत्र का दौरा कर नियमों की आवहेलना करने वाले निजी बस ऑपरेटरों के रूट परमिट रद्द करने की मांग की है। क्षेत्र के लोगों ने विभाग से इन संपर्क मार्गों पर निगम की बसें चलाए जाने की भी मांग की है, ताकि लोगों को परेशानी न झेलनी पड़े।


 

उधर आरटीओ हमीरपुर विरेंद्र शर्मा ने बताया कि कोविड के दौरान निज़ी बस आपरेटरों नें रूट चलाने से हाथ खड़े कर दिए थे। अब जबकि स्थिति सामान्य हो रही है तो आपरेटरों से बात करके रविवार को भी सेवाएँ जारी रखने को कहा जाएगा। वहीं, क्षेत्रीय प्रबंधक हमीरपुर विवेक लखनपाल ने बताया कि सरकारी बसों के रूट इस समय नुक़सान में चल  रहे हैं। वर्किंग डेज में ही सवारियाँ पूरी नहीं हो पा रहीं है, तो रविवार को केसे हो पाएँगी। उन्होंने बताया कि वर्तमान में रविवार को बस रूट चलाना संभव नहीं है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।