वाटर स्पोट्र्स से लौटेगी नादौन की पुरानी शान, पर्यटन को लगेंगे नए पंख

 रिवर राफ्टिंग के लिए नादौन को बेहतरीन साइट बता रहे हैं विशेषज्ञ 

 उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने बताया कि ऐतिहासिक, धार्मिक और व्यापारिक दृष्टि से नादौन कस्बा हमीरपुर जिले का एक बहुत ही महत्वपूर्ण केंद्र है। यहां एडवेंचर स्पोट्र्स और एडवेंचर टूरिजम की अपार संभावनाएं मौजूद हैं। इसी मद्देनजर यहां रिवर राफ्टिंग साइट विकसित की गई है। आने वाले समय में  इस साइट पर सभी आवश्यक सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा। उपायुक्त ने बताया कि 4 से 8 अक्तूबर तक आयोजित की जा रही ऑल इंडिया रिवर राफ्टिंग मैराथन सीरीज नादौन में साहसिक खेलों और पर्यटन के विस्तार की दिशा में एक मील का पत्थर साबित होगी।

 | 

  हमीरपुर ।  छोटी-छोटी पहाडिय़ों के बीच कई किलोमीटर तक फैली सुंदर घाटी, साथ में कल-कल बहती सदानीरा ब्यास और सामने धौलाधार की बर्फ से ढकी धवल चोटियों की शानदार झलक देखने को मिल जाए तो एक सैलानी और प्रकृति प्रेमी के लिए इससे बेहतर सुखद अनुभव एवं यादगार पल भला और क्या हो सकते है? ब्यास नदी के बाएं छोर पर बसे जिला हमीरपुर के एक छोटे से कस्बे नादौन और इसके आस-पास के क्षेत्रों में इस तरह के बेहद खूबसूरत नजारे देखने को मिलते हैं। शायद यही कारण है कि नादौन के बारे में एक कहावत प्रचलित है कि ‘जो आए नादौन तो फिर जाए कौन’ यानि जो एक बार नादौन आता है तो फिर उसका मन यहीं पर रम जाता है। कटोच वंश की ग्रीष्मकालीन राजधानी रहे नादौन का वैभवशाली इतिहास रहा है और यहां की ऐतिहासिक धरोहरें आज भी इसकी प्राचीन शान की कहानी बखूबी बयां करती हैं। अपने प्राकृतिक सौंदर्य के साथ-साथ इतिहास के विभिन्न कालखंडों में ऐतिहासिक, धार्मिक और व्यापारिक दृष्टि से महत्वपूर्ण रहे इस क्षेत्र के वैभव को पुनर्जीवित करने की दिशा में वाटर स्पोट्र्स और एडवेंचर टूरिज्म अहम भूमिका निभा सकता है।
 इसी के मद्देनजर हिमाचल प्रदेश पर्यटन विभाग और जिला प्रशासन ने नादौन में द इंडियन राफ्टिंग फाउंडेशन के सहयोग से आल इंडिया रिवर राफ्टिंग मैराथन सीरीज का आयोजन करके एक बहुत बड़ी पहल की है। वल्र्ड राफ्टिंग फाउंडेशन से मान्यता प्राप्त यह प्रतियोगिता नादौन में पर्यटन और साहसिक खेलों के विकास की दिशा में एक मील का पत्थर साबित होगी। विशेषज्ञों के अनुसार नादौन में ब्यास की जलधारा और यहां का मौसम रिवर राफ्टिंग तथा अन्य वाटर स्पोट्र्स के लिए बहुत ही अनुकूल है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर की रिवर राफ्टिंग प्रतियोगिताओं के लिए भी विशेषज्ञ नादौन और इसके आस-पास के क्षेत्र को बहुत ही अच्छी साइट बता रहे हैं। अगले वर्ष यहां एशियन रिवर राफ्ंिटग चैंपियनशिप के आयोजन की संभावनाओं पर भी विचार किया जा रहा है। ब्यास नदी की जलधाराओं में रिवर राफ्टिंग और अन्य वाटर स्पोट्र्स के माध्यम से की गई यह पहल आने वाले समय में नि:संदेह नादौन को एक खूबसूरत पर्यटन स्थल और वाटर स्पोट्र्स के सेंटर के रूप में एक नई पहचान दिलाएगी।
 उधर, उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने बताया कि ऐतिहासिक, धार्मिक और व्यापारिक दृष्टि से नादौन कस्बा हमीरपुर जिले का एक बहुत ही महत्वपूर्ण केंद्र है। यहां एडवेंचर स्पोट्र्स और एडवेंचर टूरिजम की अपार संभावनाएं मौजूद हैं। इसी मद्देनजर यहां रिवर राफ्टिंग साइट विकसित की गई है। आने वाले समय में  इस साइट पर सभी आवश्यक सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा। उपायुक्त ने बताया कि 4 से 8 अक्तूबर तक आयोजित की जा रही ऑल इंडिया रिवर राफ्टिंग मैराथन सीरीज नादौन में साहसिक खेलों और पर्यटन के विस्तार की दिशा में एक मील का पत्थर साबित होगी।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।