विश्व के पर्यटन मानचित्र पर जल्द ही उभरता नज़र आएगा नादौन - विजय अग्निहोत्री

 रिवर राफ्टिंग सहित पर्यटन के क्षेत्र में नादौन की अपार सम्भावनाओं को देखते हुये इसे सर्किट डेस्टिनेशन के तौर पर विकसित करने की परियोजना पर सरकार गम्भीरता से कर रही है विचार
 | 
.

हमीरपुर ।  हिमाचल पथ परिवहन निगम के उपाध्यक्ष विजय अग्निहोत्री ने नादौन को विश्व के पर्यटन मानचित्र पर जल्द उभारने की क्षमताओं के दोहन की बात कही है। उन्होंने कहा कि रिवर राफ्टिंग सहित पर्यटन के क्षेत्र में नादौन की अपार सम्भावनाओं को देखते हुये इसे सर्किट डेस्टिनेशन के तौर पर विकसित करने की परियोजना पर सरकार गम्भीरता से विचार कर रही है जिससे आने वाले समय में यहां के युवाओं को रोजगार के अवसरों में भारी वॄद्धि होगी।

नादौन में आयोजित पत्रकार वार्ता में यह जानकारी देते हुये परिवहन निगम के वाईस चेयरमैन विजय अग्निहोत्री ने कहा कि आल इंडिया राफ्टिंग मैराथन का 4 अक्तूबर से 8 अक्तूबर तक नादौन में आयोजन किया जाना पर्यटन और साहसिक खेलों की दिशा में एक मील पत्थर साबित होगा। उन्होंने जानकारी दी कि वर्ल्ड राफ्टिंग फैडरेशन से मान्यता प्राप्त इस आयोजन का भारतवर्ष में पहली बार हिमाचल प्रदेश के नादौन में आयोजित होने से हमें गौरव की अनुभूति है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर इस प्रतियोगिता का शुभारंभ करेंगे जिसमें देशभर से कुल 25 टीमें भाग लेंगी। निगम उपाध्यक्ष विजय अग्निहोत्री ने कहा कि इस इवेंट पर कुल 40 लाख की राशि व्यय होगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश से कुल 7 टीमें जबकि भारतीय वायु सेना की तीन, पंजाब से 1, भारतीय सेना की 4, आइटीबीपी की 2, बीएसएफ की 4, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल से एक एक टीम और जम्मू कश्मीर से 2 टीमें भाग लेंगी।

उन्होंने कहा कि ये मुकाबले पुरुष, स्त्री एंव मिक्सड होंगे। नादौन में पर्यटन की अपार सम्भावनाओं का ज़िक्र करते हुये उन्होंने इस बात को दोहराया कि इस क्षेत्र को सर्किट डेस्टिनेशन के तौर पर विकसित करने की सम्भावनाओं को सरकार बड़ी गम्भीरता से तलाश कर रही है। उनका कहना था कि धर्मशाला, पालमपुर बीड़ विलिंग जैसे पर्यटन स्थल हों अथवा ज्वालामुखी, चामुंडा धाम, ब्रजेश्वरी देवी और चिन्तपूर्णी मंदिर जैसे धार्मिक स्थल हों इन सबके लिये नादौन एक सर्किट डेस्टिनेशन है। उन्होंने कहा कि धर्मशाला से शिमला अथवा कुल्लू मनाली के लिये भी नादौन सैलानियों के लिये अहम पड़ाव है। रिवर राफ्टिंग जैसे एडवेंचर शुरू होने से इस क्षेत्र की अहमियत बढ़ेगी। इसीलिए नादौन में पर्यटकों की सुविधा के लिये हेलीपैड जैसी अत्याधुनिक सुविधाओं को मुहैया करवाने के लिये सरकार ने कदम उठाए हैं।

उन्होंने कहा कि धौलासिद्ध जैसी परियोजना के धरातल पर उतरते ही नादौन पर्यटन के क्षेत्र में काफ़ी विकसित होगा जिससे आने वाले समय में यहां के युवाओं के लिये रोज़गार के अवसरों में वृद्धि होगी। इसके अलावा नादौन में 8 करोड़ की लागत से राफ्टिंग खिलाड़ियों के लिए एक होस्टल तथा नादौन से दियोटसिद्ध तक के लिए विशेष कॉरिडोर बनाने के लिए करीब 50 करोड़ रुपये की योजना का प्रारूप सरकार को भेज गया है जो कि शीघ्र ही धरातल पर नज़र आएगा।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।