नाक की जगह मुंह से सांस लेकर चल रहा जीवन

दिमाग में रसौली का होगा बड़ा आपरेशन, आर्थिक स्थिति से जूझ रहे परिबार को मदद की दरकरार
 | 
.

हमीरपुर।   उपमंडल बड़सर के मैहरे बाजार में किराए के मकान में रह रहे एक गरीब परिबार को बेटे के इलाज के लिए आर्थिक सहायता की जरूरत है। आशीष कुमार के दिमाग में रसौली होने के चलते वह नाक की जगह मुंह से सांस लेकर जीवित है। डाक्टरों के अनुसार उसका आपरेशन होना है। जिसके लिए गरीब परिबार को आर्थिक मदद की जरूरत है।


बताते चलें कि जिला हमीरपुर के बस्सी झनिरा गांव से संबध रखने बाले इस परिबार को चारों तरफ  से मुशिबतों ने घेर लिया है। जिससे यह परिबार मदद की गुहार लगाने को लाचार है। परिबार के मुखिया बलबीर सिंह पेशे से ड्राईवर है, जिसका गत 15 अगस्त को एक्सीडेंट हुआ है। एक बेटा दिमाग में रसोली होने के चलते जिन्दगी और मौत से जूझ रहा है। वहीं दूसरा बेटा जोकि बद्दी में रहता है, उसका भी हाल ही में एक्सीडेंट हो गया है। जिसका उपचार चल रहा है, परिवार में कमाने वाला को स्वस्थ नहीं है। जो कमाकर परिबार का पेट भर सके और लाचार परिबार के सदस्यों का इलाज करवा सके। इस मुश्किल समय में घर की मुखिया अंजना कुमारी ने सहायता के क्षेत्र के समाज सेवियों, नेताओं,  संस्थाओं व प्रदेश सरकार से मदद की गुहार लगाई है।


अंजना कुमारी ने बताया कि उनका परिवार मैहरे में किराए के मकान में रहते है और मूलतय जिला हमीरपुर के बस्सी झनिरा गाँव से संबध रखते है। उन्होंने बताया कि उनके  बेटे आशीष कुमार के दिमाग में रसौली है। जिसका इलाज टांडा मेडिकल कालेज में चल रहा है। डाक्टरों ने आपरेशन के लिए कहा है, जिसके लिए टांडा से एम्स अस्पताल के लिए रैफर किया गया है। जहा पर 10 - 12 लाख रूपये का खर्चा आएगा। अंजना के अनुसार उनके पति ड्राईवर है, जिनका 15 अगस्त को एक्सीडेंट हुआ था अभी कमा नहीं सकते हैं। वहीं उनका दूसरा बेटा जोकि बद्दी में रहता है का भी हाल ही में एक्सीडेंट हो गया है। जिसका इलाज भी चल रहा है। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में हालात इतने खराब हो गए है कि घर में तीन लोगों का इलाज करवाना उनके लिए मुश्किल हो गया है। उन्होंने सरकार व क्षेत्र के लोगों से मदद की गुहार लगाई है।


वहीं इस परिबार की मदद के लिए बड़सर के पूर्व विधायक मनजीत सिंह डोगरा ने हाथ बढाते हुए बच्चें के इलाज के लिए 15 हजार की राशि दी है व आगे भी मदद का आश्वाशन दिया है। लेकिन आपरेशन पर 10-12 लाख रूपये का खर्च आएगा, जो उसका इंतजाम करना बड़ी चुनौती बन गया है। जो भी इस परिवार की मदद करना चाहता है, वह पंजाब नेशनल बैंक के खाता संख्या 2528000100247845 व आईएफएससी कोड पीयूएनबी0252800 में पैसे जमा कर मदद कर सकते हैं।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।