हमीरपुर : महिला मेडिकल वार्ड में एक बिस्तर पर दो- दो मरीज, तीमारदारों ने बाहर बिताई रात

 डॉ. राधाकृष्णन मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल हमीरपुर के महिला मेडिकल वार्ड में मरीजों को बिस्तरों की कमी पड़ रही है

 | 
.

 हमीरपुर। डॉ. राधाकृष्णन मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल हमीरपुर के महिला मेडिकल वार्ड में मरीजों को बिस्तरों की कमी पड़ रही है। पूर्व में गायनी वार्डों में एक बिस्तर पर दो- दो महिलाएं मिलती थीं, अब मेडिकल वार्ड के एक बिस्तर पर दो-दो महिलाएं देखी जा सकती हैं। बदलते मौसम के बीच मेडिसन ओपीडी में अधिक रोगी पहुंच रहे हैं। आजकल मेडिसन ओपीडी 200 के पार हो चुकी है। इनमें से कई मरीज अस्पताल में भर्ती किए जा रहे हैं। ऐसे में मेडिकल वार्ड में रोगियों की संख्या बढ़ गई है। इससे यहां बिस्तरों की कमी पड़ रही है।



बीते बुधवार को यहां एक बिस्तर पर दो-दो मरीज लेटे थे। वहीं, शाम ढलते ही तीमारदारों को यहां रुकने की मुश्किल हो गई। अधिकतर तीमारदारों ने रात वार्ड के बाहर बिताई। वीरवार  को भी मेडिकल वार्ड में एक बिस्तर पर दो-दो मरीज होने से मरीजों और तीमारदारों को समस्याओं का सामना करना पड़ा। वीरवार को कई मरीजों को छुट्टी देने के बाद भीड़ थोड़ी कम हुई, इसके बावजूद मेडिकल वार्ड में गायनी वार्ड की तरह मरीजों की अधिकता पाई जा रही है। मरीजों एवं तीमारदारों विनीत कुमार, सलोचना देवी, शुभांशू, विनय कुमार ने कहा कि बुधवार  शाम को फीमेल मेडिकल वार्ड में एक बिस्तर पर दो-दो मरीज थे। मेल मेडिकल वार्ड भी फुल था। शाम को तीमारदारों को बाहर ही रात गुजारनी पड़ी। वीरवार सुबह भी यही हाल था, लेकिन कुछ मरीजों को छुट्टी होने के बाद वार्ड से भीड़ कम हुई है। 


उधर  मेडिकल कॉलेज के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. रमेश चौहान ने कहा कि मेडिकल वार्डों में 20-20 बिस्तर की सुविधा है, लेकिन आजकल बदलते मौसम के चलते मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। यहां जो नए वार्ड बने थे, वह कोविड वार्ड बना दिए गए हैं। ऐसे में फिलहाल कोई और विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा कि  नए मेडिकल कॉलेज बनने के बाद ही यह समस्या स्थायी रूप से हल होगी। 
 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।