एसएमसी TGT कला शिक्षकों हेतु नीति बनाए सरकार

संघ की राज्य कार्यकारिणी ने भी इन शिक्षकों के कल्याण हेतु उपयुक्त मार्ग खोजने हेतु प्रदेश सरकार से नीति संशोधन की अपील की है क्योंकि सरकारी नीति में वैधानिक हस्तक्षेप की गुंजाइश कम होती है ।
 | 

हमीरपुर।  प्रदेश सरकार स्कूल प्रबंधन समिति के अधीन नियुक्त समस्त टीजीटी कला (TGT Arts)  शिक्षकों के नियमितीकरण हेतु नीति निर्माण बारे वैधानिक रास्ता निकाले । इन शिक्षकों ने अनेकों वर्ष एस एम सी (SMC) के अधीन सेवाएं दी और नियुक्ति भी भर्ती पदोन्नति नियमों के अनुसार हुई मगर हाईकोर्ट में केस हारने के चलते नियमितीकरण रुक गया, मगर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ये शिक्षक अपनी सेवाएं दे रहे हैं ।

ऐसे में मानवीय दृष्टिकोण और कर्मचारी कल्याण की वैधानिक प्रत्याशा देखते हुए इनको नियमित करने हेतु विधिसंगत हल निकाला जाए । यह मांग राजकीय टीजीटी कला (TGT Arts) संघ सिरमौर के अध्यक्ष सीताराम पोजटा, महासचिव मनोज कुमार, संघ के प्रदेश इकाई सदस्य वीरभद्र नेगी,सोहन सिंगटा, देशराज शर्मा आदि ने प्रदेश सरकार से की है । संघ की राज्य कार्यकारिणी ने भी इन शिक्षकों के कल्याण हेतु उपयुक्त मार्ग खोजने हेतु प्रदेश सरकार से नीति संशोधन की अपील की है क्योंकि सरकारी नीति में वैधानिक हस्तक्षेप की गुंजाइश कम होती है ।

संघ का कहना है कि टीजीटी (TGT) शिक्षकों के रिक्त पदों पर बेरोज़गारों को अवसर मिलना चाहिए और इस शिक्षकों की लंबी सेवाओं के मद्देनजर इनको नियमित करने में सेवा अनुभव को वरीयता का आधार बनाया जा सकता है । इसके अलावा संघ की ओर से मुख्यमंत्री का सिरमौर में स्वागत किया जाएगा और संघ अपना मांगपत्र भी मुख्यमंत्री को सौंपेगा ताकि टीजीटी कला (TGT Arts) शिक्षकों के कल्याण हेतु आवश्यक कदम उठाए जा सकें।
 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहांक्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमेंगूगल न्यूज पर फॉलो करें।