गरीब विद्यार्थियों को परीक्षा शुल्क में छूट दे शिक्षा बोर्ड : संघ

प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने हाल ही में टर्म परीक्षाओं के शेड्यूल और परीक्षा शुल्कों की अधिसूचना जारी की है,  इन परीक्षा शुल्कों में गरीब बच्चों को विशेष छूट देने की मांग राजकीय टीजीटी कला शिक्षक संघ ने उठाई
 | 

हमीरपुर ।   प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने हाल ही में टर्म परीक्षाओं के शेड्यूल और परीक्षा शुल्कों की अधिसूचना जारी की है। इन परीक्षा शुल्कों में गरीब बच्चों को विशेष छूट देने की मांग राजकीय टीजीटी कला शिक्षक संघ ने बोर्ड अध्यक्ष व सचिव से की है। संघ प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कौशल, उपाध्यक्ष मदन लाल, महासचिव विजय हीर, डेलीगेट्स संजय ठाकुर, देश राज, दुनी चंद , ओमप्रकाश, संगठन शाखा सचिव वीरभद्र नेगी, सोहन सिंगटा, रणवीर तोमर, देश राज शर्मा, डॉ0 सुनील दत्त, जिलाध्यक्ष संजय वर्मा, सीताराम पोजता, राजेन्द्र ठाकुर, विजय बरवाल, सुभाष भारती, राकेश चौधरी, रिग्ज़िन संदप, संजय चौधरी, रविन्द्र गुलेरिया, रामकृष्ण, पुष्पराज, अमित छाबड़ा ने संयुक्त रूप से विद्यार्थी हित में समस्त गरीब तबके के विद्यार्थियों की परीक्षा फीस मैट्रिक और 10+2 कक्षा हेतु कम करने की मांग की है।

बोर्ड ने दसवीं में हर टर्म परीक्षा हेतु फीस 500 रूपये, 12वीं हेतु 600 प्रति टर्म व 200 रूपये माईग्रेशन फीस, कक्षा 8वीं, 9वीं और 11वीं हेतु 150 रूपये प्रति टर्म और कक्षा 3 व 5 हेतु 100 रूपये फीस तय की है। संघ ने बोर्ड से केंद्र रिटेंशन फीस में भी गरीब बच्चों को राहत देने की मांग उठाई है। संघ महासचिव विजय हीर ने कहा कि कक्षा 3, 5 और 8 के सरकारी स्कूल के विद्यार्थियों की परीक्षा फीस देने हेतु स्टार्स प्रोजेक्ट के तहत फंडिंग देने हेतु एसएसए को विचार-विमर्श करना चाहिए ताकि आरटीई एक्ट के तहत मुफ्त व अनिवार्य शिक्षा के प्रावधान का भी सम्मान हो और बोर्ड को पेपर्स हेतु फंड भी एसएसए से मिल जाए।

इसके अलावा अक्षम बच्चों हेतु अलग पेपर और अतिरिक्त समय भी देने हेतु विचार किया जाए। संघ ने समेस्टर प्रणाली इस सत्र से लागू करने का मुद्दा 11 जुलाई को मीडिया में भी रखा था और अगर उस समय कार्यवाही होती तो यह प्रणाली अब तक निर्विरोध लागू हो जाती। संघ ने इस व्यवस्था में साल में 2 बार पेपर्स लेते हुए परीक्षा का कठिनाई स्तर कम रखने की अपील की है और दूसरी टर्म परीक्षा अप्रैल में लेने की अपील की है। इसके अलावा बोर्ड को 10 सूत्रीय सुझाव भी संघ ने बैठक से पूर्व प्रेषित किए हैं ताकि बच्चों पर पाठ्यक्रम का बोझ घटाया जाए और परीक्षाएँ सरल हों।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।