कांग्रेसी प्रवक्ताओं को गलत बयान देकर फजीहत कराने की पड़ी है लत : अंकुश दत्त शर्मा

जिला मीडिया प्रभारी ने कहा भाजपा ने हमेशा से कर्मचारियों और अधिकारियों के हितों की सुरक्षा की है कांग्रेस देखे अपना दामन 
कहा  सरकारी और निजी क्षेत्र की नौकरियों में हिमाचलीयों को मिले अधिक अवसर धूमल सरकार ने किए थे ऐसे प्रावधान,  स्कूल प्रवक्ताओं की नौकरी केवल हिमाचलीयों को ही मिले यह सुविधा धूमल सरकार में ही हुई थी प्राप्त
 | 
.
हमीरपुर ।  बिना तथ्यों की जांच किए गलत बयान देकर अपनी पार्टी की फजीहत कराने की कांग्रेसी प्रवक्ताओं को लत पड़ चुकी है। तथ्यों को बिना पढ़े लिखे बयान देकर कांग्रेस के प्रवक्ता अपनी पार्टी के लिए नीम हकीम खतराए जान बन बैठे हैं। प्रवक्ताओं की नियुक्तियों को लेकर दिए गए गलत बयान के ऊपर कड़ी प्रतिक्रिया करते हुए भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी अंकुश दत्त शर्मा ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए यह बात कही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में भाजपा ने हमेशा ही कर्मचारियों और अधिकारियों के हितों की रक्षा की है लेकिन इस मामले में कांग्रेस को अपना दामन देखने की जरूरत है। 

  जिला मीडिया प्रभारी ने कहा कि भर्ती की प्रक्रिया, भरे जा रहे पद के दर्जे के अनुसार होती है। क्लॉस एक और क्लॉस दो श्रेणी दर्जे की भर्ती में अखिल भारतीय स्तर पर कोई भी कम्पीट कर सकता है। और उसके नीचे की श्रेणी के दर्जों की भर्ती प्रदेश से भी हो सकती है। कांग्रेस के समय से ही स्कूल कैडर के लेक्चरर क्लॉस दो श्रेणी का दर्जा चाहते थे। क्योंकि स्कूल कैडर के प्रवक्ताओं ने क्लास दो श्रेणी का दर्जा ले लिया था, इसलिए क्लॉस दो श्रेणी में हुई नई भर्ती में सबको भाग लेने हक था। तब तत्कालीन भाजपा की धूमल सरकार ने ही लेक्चरर्स एसोसिएशन के साथ बात करके उनको समझाया और उन्होंने यह बात मानी की जब स्कूल लेक्चरर की भर्ती होगी, तब वह क्लास 3 श्रेणी के दर्जे में ही होगी और तीन साल की नौकरी के बाद उनका दर्ज़ा,  क्लॉस दो श्रेणी कर दिया जाएगा। इस तरह धूमल सरकार ने यह सुविधा प्रदान की थी कि स्कूल प्रवक्ताओं की श्रेणी में  केवल हिमाचली ही रोजगार प्राप्त कर सकेंगे। 
  केवल यही नहीं धूमल सरकार ने अटल बिहारी वाजपेई की सरकार से प्रदेश के लिए औद्योगिक पैकेज लाया, जिससे प्रदेश में लाखों लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ। जब केंद्र और प्रदेश दोनों जगह भाजपा की सरकार थी तो यह भी भाजपा सरकारों की ही देन है। कई बार सेना में और पैरा मिलिट्री फोर्सेज में भर्ती का कोटा कई राज्यों से पूरा नहीं होता, तो उसको भी धूमल सरकार ने प्रदेश के हित में डाइवर्ट कराया था कि अगर कहीं सीटें  बच जायें तो वहां भी हिमाचल के लोगों को भर्ती किया जाए। प्रदेश में सरकारी और निजी क्षेत्र की नौकरियों में हिमाचलियों को अधिक अवसर प्रदान करने के लिए धूमल सरकार ने बहुत सारे प्रावधान किए थे लेकिन तथ्यों कि बिना जांच किए हुए कांग्रेस के प्रवक्ता गलत बयानवाजी कर  जनता में हंसी का पात्र बन रहे हैं। 
 भाजपा जिला मीडिया प्रभारी अंकुश दत्त शर्मा ने मंगलवार को हमीरपुर में कांग्रेस पार्टी द्वारा किए गए प्रदर्शन को फ्लॉप शो करार देते हुए कहा है कि कांग्रेस का प्रदर्शन बिल्कुल फीका रहा है। इस प्रदर्शन से जहां आम जनमानस ने दूरी बनाए रखी तो वही कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारियों कई ब्लॉक के अध्यक्षों यहां तक कि कुछ विधायकों ने भी दूरी बनाए रखी जो अपने आप में यह साबित करता है कि कांग्रेस कि विरोध की राजनीति से अब आम जन के साथ साथ कांग्रेस पार्टी के अपने  लोग पदाधिकारी और विधायक भी खुद को दूर रख रहे हैं।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।