लंपी चमड़ी रोग को लेकर जिलाधीश ने की बैठक, लक्षण दिखने पर तुरंत नजदीकी पशु चिकित्सालय में सम्पर्क करें

उपायुक्त हमीरपुर देबश्वेता बनिक सभी पशुपालकों से आह्वान किया कि यदि किसी भी गाय या भैंस में यदि यह लक्षण दिखे तो तुरंत नजदीकी पशु चिकित्सालय में पशु चिकित्सक से सम्पर्क करें।
 | 
लंपी चमड़ी रोग

  हमीरपुर ।  उपायुक्त हमीरपुर देबश्वेता बनिक ने शुक्रवार को पशुपालन विभाग के अधिकारियों के साथ लंपी चमड़ी रोग को लेकर बैठक की। उन्होंने बताया कि यह रोग केवल गोवंश तथा भैंसों को प्रभावित कर रहा है। इससे पशु को तेज बुखार,त्वचा में सूजन व मोटी-मोटी गाठें होती हैं तथा साथ ही पशु को कमजोरी तथा दूध उत्पादन में कमी आ जाती है। इससे थनों, होंठ और मुंह और नाक के उधर अलसर हो जाते हैं। उन्होंने बताया कि जिला के सभी पशु चिकित्सालयों में दवाईयां उपलब्ध हैं।


        उन्होंने जिला के सभी पशुपालकों से आह्वान किया कि यदि किसी भी गाय या भैंस में यदि यह लक्षण दिखे तो तुरंत नजदीकी पशु चिकित्सालय में पशु चिकित्सक से सम्पर्क करें। उन्होंने बताया कि अभी तक जिला हमीरपुर में कुल 540 मामले इस बीमारी के आए हैं तथा पांच पशुओं की इस बीमारी से मृत्यु हुई है।  उन्होंने बताया कि इस बीमारी से निपटने के लिए टीकाकरण भी शुरू कर दिया गया है तथा अब तक 3 हजार पशुओं का टीकाकरण किया जा चुका है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहांक्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमेंगूगल न्यूज पर फॉलो करें।