दूसरे के कामों का झूठा श्रय लेना बीजेपी की पुरानी परम्परा : ब्लॉक कांग्रेस

ब्लॉक कांग्रेस ने कहा  बड़सर में विधायक इंद्रदत्त द्वारा करवाये गए विकास कार्यों का बीजेपी नेताओं मे झूठा श्रय लेने की होड़ लगी है।   
 | 
congress party

हमीरपुर ।   बड़सर विधानसभा क्षेत्र में असवैधानिक तरीके से विधायक इंद्रदत्त लखनपाल के विकास  कार्यों का झूठा श्रय ले रहे बीजेपी के हारे नकारे नेता। यह बात बड़सर ब्लॉक कांग्रेस ने मंगलवार को जारी प्रेस ब्यान के माध्यम से कही। ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष केवल धीमान, ब्लॉक कांग्रेस एसी सैल अध्यक्ष कृष्ण निरंकारी व किसान मोर्चा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष केवल शर्मा ने संयुक्त ब्यान जारी करते हुए कहा कि बड़सर में विधायक इंद्रदत्त द्वारा करवाये गए विकास कार्यों का बीजेपी नेताओं मे झूठा श्रय लेने की होड़ लगी है। 

उन्होंने कहा जिन्हें बड़सर की जनता दो बार विधानसभा चुनावों मे नकार चुकी है। वह नेता बताए कि किस हक से क्षेत्र में  उद्धघाटन व शिलान्यास कर रहे है।  उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेता असवैधानिक तरीके से सरकारी संस्थानों को बीजेपी के संस्थान बनाने में लगे हुए है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के हारे नकारे नेता बताये कि जिस आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र का उन्होंने मंगलवार को कुलहेड़ा पंचायत के सुलहाड़ी गाँव मे उद्धघाटन किया है।  उसकी स्वीकृति मे उनका क्या योगदान रहा है। इसके लिए उन्होंने कितनी बार मुख्यमंत्री से बात की तथा किस किस को लेकर वे इस स्वास्थ्य केंद्र की स्वीकृति के लिए शिमला गए।

उन्होंने कहा कि जंजघर में अस्थाई रूप से शुरू किए गए स्वास्थ्य केंद्र को खोलने के लिए विधायक इंद्रदत्त लखनपाल ने विधानसभा सत्र में आवाज को बुलंद किया।  कई बार मुख्यमंत्री से इसके लिए मांग की उसके बाद यह स्वीकृति मिली है। लेकिन बड़सर बीजेपी के हारे नकारे नेता इसका श्रय लेने सबसे पहले पहुंचे है। उन्होंने आयुर्वेदिक विभाग को घेरते हुए कहा कि विभाग ने असवैधानिक तरीके से इस स्वास्थ्य केंद्र का उद्धघाटन करवाया है।  जिनका बड़सर की जनता मे बजूद ही  खत्म हो चुका है। 

उन्होंने कहा कि इससे अच्छा होता कि इसका उद्धघाटन उस महिला से करवाते जिसने इस स्वास्थ्य केंद्र के लिए जमीन दान की है या फिर कम से कम जीते हुए प्रधान  से ही करवा लेते तो अच्छा होता।  उन्होंने कहा कि दूसरों के कार्यों का झूठा श्रय लेना बीजेपी नेताओं की पुरानी परम्परा रही है और यही कारण है कि ऐसे नेताओं को जनता दूरकार चुकी है। अब ये नेता चुनावों के समय इस तरह के हथाकंडे अपनाकर अपने खोये बजूद को तलाशने की नाकामयाब कोशिश कर रहे है, जो कभी पूरी नहीं होंगी। 

उन्होंने कहा कि पूर्व विधायक इस तरह असवैंधानिक तरीके से कार्य कर विकास कार्यों का झुठा श्रेय ले रहे हैं। उन्होंने सरकार से मांग की है कि पूर्व विधायक पर इस तरह के शिलान्यास व उद्घाटन करने की रोक लगाई जाए। 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहांक्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमेंगूगल न्यूज पर फॉलो करें।