उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से 1,45,178 राशनकार्ड धारकों को किया जा रहा लाभान्वित

विभागीय अधिकारियों ने उचित मूल्य की दुकानों और खुले बाजार में कुल 1083  निरीक्षण किए तथा व्यापारियों से 68,569 रुपये का जुर्माना वसूला
 | 
.

हमीरपुर ।  जिला स्तरीय सार्वजनिक वितरण समिति की बैठक शुक्रवार को अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी जितेंद्र सांजटा की अध्यक्षता में हुई। बैठक में खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से उपभोक्ताओं को दी जा रही विभिन्न सुविधाओं की समीक्षा की गई।


  अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी ने बताया कि हमीरपुर जिला में उचित मूल्य की कुल 296 दुकानों के माध्यम से सभी श्रेणियों के 1,45,178 राशनकार्ड धारकों को इस वर्ष अप्रैल से अगस्त तक सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत लगभग 71 करोड़ 21 लाख रुपये मूल्य की खाद्य वस्तुएं वितरित की गई हैं। विभागीय अधिकारियों ने इस अवधि के दौरान उचित मूल्य की दुकानों और खुले बाजार में कुल 1083  निरीक्षण किए तथा व्यापारियों से 68,569 रुपये का जुर्माना वसूला है।


 एडीएम ने बताया कि जिला में 9 गैस एजेंसियों के पास कुल 155063 उपभोक्ता पंजीकृत हैं, जिन्हें घरेलू गैस की आपूर्ति उपायुक्त महोदय द्वारा अधिसूचित रूट चार्ट के अनुसार सुचारू एवं नियमित रूप से करवाई जा रही है। उपभोक्ताओं की सुविधा एवं जानकारी के लिए गैस एजेंसियों द्वारा गैस आपूर्ति हेतु वाहनों पर लाउड स्पीकर और भार तोलक यंत्र स्थापित किए गए हैं और जिला दंडाधिकारी द्वारा अधिसूचित भाड़ा दरें भी प्रदर्शित की गई हैं। सभी गैस एजेंसियों को उपभोक्ताओं को भरे हुए घरेलू गैस सिलेंडर की राशि और भाड़ा दर अलग-अलग दर्शाकर बिल जारी करने के निर्देश दिए गए हैं। हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के अंतर्गत जिला हमीरपुर में कुल 23948 गैस कनेक्शन लाभार्थियों को निशुल्क जारी किए गए हैं, जिनमें से 16349 लाभार्थियों को वर्ष 2020-21 में एक अतिरिक्त रिफिल उपलब्ध करवाया गया है।
 जितेंद्र सांजटा ने पात्र परिवारों से अपील की है कि यदि उनके पास घरेलू गैस कनेक्शन नहीं है तो वे खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के पास निर्धारित आवेदन पत्र पर संंबंधित पंचायत के माध्यम से मुफ्त घरेलू गैस कनेक्शन हेतु आवेदन करें।


 एडीएम ने बताया कि जिला की 5,50,124 राशन कार्ड जनसंख्या को आधार सीडिंग से जोड़ दिया गया है। उचित मूल्य की सभी दुकानों पर पीओएस मशीनों के माध्यम से राशन वितरित किया जा रहा है। पिछले माह 98 प्रतिशत से अधिक खाद्यान्नों को बायोमीट्रिक के माध्यम से वितरित किया गया। एडीएम ने विभाग को उपभोक्ता जागरुकता की दिशा में अधिकाधिक कार्य करने के निर्देश भी दिए। इस अवसर पर जिला की विभिन्न ग्राम पंचायतों से उचित मूल्य की नए दुकानें खोलने के प्रस्तावों को भी समिति के समक्ष रखा गया। बैठक में जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक अरविंद कुमार शर्मा ने विभिन्न मदों का ब्यौरा प्रस्तुत किया।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।