Punjab की तर्ज़ पर दें भत्ते और Pe - Sakel : टीजीटी कला संघ

प्रदेश सरकार आगामी JCC की बैठक में पंजाब वेतन आयोग की रिपोर्ट को प्रदेश में लागू करने की घोषणा करे और प्रदेश के कर्मचारियों को Punjab की तर्ज़ पर समस्त भत्ते और पे-स्केल दें।

 | 
हमीरपुर। प्रदेश सरकार आगामी जेसीसी (JCC) की बैठक में पंजाब वेतन (Punjab vetan) आयोग की रिपोर्ट को प्रदेश में लागू करने की घोषणा करे और प्रदेश के कर्मचारियों को पंजाब (Punjab) की तर्ज़ पर समस्त भत्ते और पे-स्केल (Pe-Sakel) दिए जाएँ । 

पंजाब (Punjab)  सरकार ने उच्च शिक्षा भत्ता शिक्षकों और अन्य कर्मचारियों हेतु लागू कर दिया है जिसकी अधिसूचना 1 अक्तूबर, 2021 को हुई है । इसके तहत पी.एच.डी. (P.H.D) योग्यता वालों को 30 हज़ार, एक वर्ष से अधिक पी.जी (P. G) कोर्स धारकों को 25 हज़ार, एक वर्ष के कम अवधि के पी.जी. (P. G) कोर्स धारकों को 20 हज़ार, तीन साल से अधिक अवधि की डिग्री करने वालों को 15 हज़ार और तीन साल से कम अवधि की डिग्री करने वालों को 10 हज़ार रूपये की प्रोत्साहन राशि पूरी सर्विस में केवल एक बार मिलेगी। 

स्टडी लीव से योग्यता बढ़ाने वालों और अर्जित योग्यता का संबंध व्यवसाय से न होने पर ये लाभ नहीं मिलेगा । इस तरह के प्रावधान हिमाचल (Himachal) में भी लागू करने की मांग राजकीय टीजीटी (TGT) कला संघ प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कौशल और प्रदेश महासचिव विजय हीर ने प्रदेश सरकार से की है । 

हीर ने बताया कि पंजाब  सरकार (Punjab govt) अपने कर्मचारियों को मोबाईल भत्ता भी दे रही है। जिसके चलते जिन कर्मचारियों का वेतन आयोग पे मैट्रिक्स में स्तर 16 से 31 है, उनको एक हज़ार रूपये प्रति माह मिलेंगे जबकि स्तर 11 से 15 वालों को 600 रूपये प्रतिमाह व स्तर 1 से 10 वालों को 500 रूपये प्रतिमाह मिलेंगे। लेकिन प्रदेश के कर्मचारी इस भत्ते से वंचित हैं । सितंबर , 2021 से पंजाब ने कनवेयन्स भत्ता भी दोगुना कर दिया है । 

इस वर्ष से पंजाब सरकार ने आवास किराया भत्ता भी मूल वेतन का 24 प्रतिशत ए श्रेणी के क्षेत्रों , 16 प्रतिशत बी श्रेणी के क्षेत्रों ,10 प्रतिशत सी श्रेणी के क्षेत्रों और 8 प्रतिशत डी श्रेणी के अति ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत कर्मचारियों को दे दिया है और प्रदेश में शिमला (Shimla) मुख्यालय के करीब कार्यरत कर्मचारियों को मूल वेतन अनुसार 600 से 2000 रूपये , जिला मुख्यालय के समीप तैनात कर्मचारियों को 300 से 1000 रूपये और ग्रामीण इलाकों में मात्र 250 से 600 रूपये मिल रहा है यानि पंजाब (Punjab) में यह भत्ता हिमाचल (Himachal) से 4 से 6 गुणा अधिक मिलता आया है । 

हिमाचल में दैनिक यात्रा भत्ता दर ए श्रेणी हेतु 250, बी श्रेणी हेतु 200, सी श्रेणी हेतु 180, डी श्रेणी हेतु 160, ई श्रेणी हेतु 130 रूपये तय है और हिमाचल से बाहर ड्यूटी हेतु ये 250 से 500 रूपये दैनिक तय है जबकि पंजाब में टीए डीए दर 160-400, 120-300,100-250 , 80-200 तय है । पंजाब सरकार (Punjab govt) ने फिक्स मेडिकल भत्ता भी 500 रूपये से बढ़ाकर 1000 रूपये प्रति माह कर दिया है ।

85 स्पेशल एजुकेटर्स वेतन बढ़ाने पर भी हुई चर्चा

राजकीय टीजीटी कला संघ महासचिव विजय हीर (Vijay Heer) ने बताया कि संघ ने गत दिनों दिव्याङ्ग बच्चों को पढ़ा रहे स्पेशल एजुकेटर्स का वेतन बढ़ाने का मामला सरकार व एसएसएस (SSA) से उठाया था। जिसके ऊपर 12 अक्तूबर को एसएसए (SSA) की 53वीं बैठक में 12 वें बिन्दु पर चर्चा के लिए रखा गया । 

85 विशेष प्रशिक्षकों के वेतन को जेबीटी /टीजीटी /पीजीटी बढ़ाने की फाईल निदेशक उच्च शिक्षा व निदेशक प्रारम्भिक शिक्षा द्वारा शिक्षा सचिव को भेजी जाएगी । संघ ने इस कार्यवाही हेतु निदेशक प्रारम्भिक शिक्षा का आभार व्यक्त किया है ।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहांक्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमेंगूगल न्यूज पर फॉलो करें।