चम्बा के स्वतंत्रता सेनानी सौदागर मल के सम्मान में डाक विभाग ने जारी की माई स्टांप

आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में डाक विभाग चम्बा ने शुक्रवार को स्वतंत्रता सेनानी सौदागर मल के सम्मान में फोटो युक्त माई स्टैंप जारी की।
 | 
आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में डाक विभाग चम्बा ने शुक्रवार को स्वतंत्रता सेनानी सौदागर मल के सम्मान में फोटो युक्त माई स्टैंप जारी की।

चम्बा। आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में डाक विभाग चम्बा ने शुक्रवार को स्वतंत्रता सेनानी सौदागर मल के सम्मान में फोटो युक्त माई स्टैंप जारी की। इस सम्मान समारोह के दौरान डाकघर चम्बा के अधीक्षक तिलक राज ने बताया कि सौदागर मल के स्वतंत्रता संग्राम में दिए गए महत्वपूर्ण योगदान और बलिदान हमेशा याद किया जाएगा। डाक विभाग चम्बा ने यह पहल जिला के स्वतंत्रता सेनानियों को पहचान दिलाने के लिए शुरू की है।

उन्होंने सौदागर मल की जीवनी पर संक्षिप्त में टिप्पणी करते हुए कहा कि उनका जन्म 19 अक्टूबर 1920 को शहर चम्बा में हुआ था। उस समय समूचे भारत में अंग्रेजों का शासन था और भारत में आजादी के परवाने अंग्रेजी हकूमत के खिलाफ आवाज उठा रहे थे। जब वह 24 वर्ष की आयु में थे तो आजादी की लड़ाई के लिए सत्याग्रह आंदोलन में कूद पड़े थे। वर्ष 1944 में उन्होंने प्रजामंडल आंदोलन में भी हिस्सा लिया था। 

उन्होंने कहा कि देश के प्रति बढ़ती निष्ठा व अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ गतिविधियों को देखते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और तीसा की कोठी जेल में बंद कर दिया गया था। जहां वह करीब 4 माह तक बंदी रहे। उसके बाद हुकूमत द्वारा उनकी नौकरी छीन ली गई। इसके बावजूद भी उन्होंने जज्बा नहीं छोड़ा और आजादी के लिए लड़ते रहे। अधीक्षक डाकघर चम्बा तिलक राज ने सौदागर मल के पुत्र वीरेंद्र महाजन को माई स्टांप देकर, शॉल और टोपी पहना कर सम्मानित किया। 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।