विधानसभा निर्वाचन 2022 की तैयारियों को लेकर एकदिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का किया आयोजन

कार्यशाला की अध्यक्षता जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त बिलासपुर पंकज राय ने की।
 | 
DC Bilaspur

बिलासपुर  । मुख्य निर्वाचन कार्यालय व जिला निर्वाचन कार्यालय बिलासपुर द्वारा  बचत भवन में विधान सभा निर्वाचन 2022 की तैयारियों को लेकर एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला की अध्यक्षता जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त बिलासपुर पंकज राय ने की। उन्होंने बताया कि कार्यशाला में अन्य जिलों के साथ जिला के इ.आर.ओं. और ए.इ.आर.ओ को चार अर्हता तिथि, आधार का जुडाव, सेवा अहरता मतदाताओं के लिए और निर्वाचन कार्यो के लिए कार्यालय के स्थान का अधिकरण जैसे मुद्दो की जानकारी व चर्चा की जानकारी दी गई।

उन्होंने सभी अधिकारियों से आग्रह किया कि चुनाव सम्बधित कार्याे का निर्वाह करने के लिए किसी भी तरह की कोताही की गुंजाइश न रखें। इसे गंभीरता पूर्ण तरीके से पूर्ण करने के लिए यथासंभव प्रयास करें। जिससे विधानसभा निर्वाचन 2022 सफलता पूर्वक तरिके से सम्पन्न हो सके तथा आम जनमानस में भी पूर्वत की भांति पारदर्शिता कायम रह सके।  
उन्होंने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के मतदाता संशोधन के आयोग के अनुसार पहले एक जनवरी निर्वाचन आहरता तिथि निश्चित की गई थी जिसे अब नई संशोधन के अनुसार एक जनवरी, एक अप्रैल, एक जुलाई, एक अक्तूबर अर्हता तिथि के अनुसार एक अक्तूबर को 18 वर्ष पूर्ण करने वाले युवक युवतियों का नाम दर्ज करने के लिए अधिकारियों का  प्रशिक्षण दिया गया।  
कार्यशाला में राष्ट्रीय स्तर के स्रोत व्यक्ति एवं उपमण्डलाधिकारी सुंदरनगर धर्मेश रमोत्रा ने संवैधानिक प्रावधान तथा हाल ही में लोग सभा में पारित  संशोधन पर लेगिंग समानता, फॉर्म-6(ख) तथा मुख्य निर्वाचन कार्यालय शिमला से आए मुनशी शर्मा और विरेन्द्र चौहान ने भारत निर्वाचन के दिशा निर्देशानुसार बिलासपुर व अन्य जिला से आए 46 निर्वाचन अधिकारी व सहायक निर्वाचन अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया ।
कार्यशाला में अतिरिक्त उपायुक्त अनुराग चन्द्र शर्मा, जिला के सभी उपमंडलाधिकारी, तहसीलदार, तहसीलदार निर्वाचन उषा चौहान, नायब तहसीलदार सहित अनेक अधिकारी उपस्थित थे।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहांक्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमेंगूगल न्यूज पर फॉलो करें।