HPSSC : लीक नहीं हुआ था JOA IT भर्ती का पेपर, एसआईटी की क्लीन चिट

चयन आयोग के सचिव डॉ. जितेंद्र कंवर ने कहा कि एसआईटी की रिपोर्ट में पेपर लीक होने की पुष्टि नहीं हुई है। केवल दस लोगों को नकल के मामले में उनकी उम्मीदवारी रद्द की गई है।
 | 
HPSSC Hamirpur

हमीरपुर । जूनियर ऑफिस असिस्टेंट (जेओए) आईटी भर्ती की लिखित परीक्षा का पेपर लीक नहीं हुआ है। पुलिस की विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने इस मामले में हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग को क्लीन चिट दे दी है। एसआईटी ने जांच रिपोर्ट प्रदेश सरकार और चयन आयोग को भेजी दी है। क्लीन चिट मिलने के बाद चयन आयोग लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित करने की तैयारी में जुट गया है।


 
गौर हो कि पोस्ट कोड 939 के तहत जेओए आईटी के 300 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया चल रही है। बीते 24 अप्रैल को इन पदों को भरने के लिए लिखित परीक्षा हुई, जिसमें 1.18 लाख अभ्यर्थियों में से 68 हजार ने परीक्षा दी। परीक्षा के दौरान मंडी जिला के सुंदरनगर, बल्ह और ऊना में परीक्षा केंद्र में नकल के तीन मामले सामने आए थे। इस पर आयोग ने तीनों अभ्यर्थियों के खिलाफ पुलिस में केस दर्ज करवाने के साथ ही उनकी उम्मीदवारी को रद्द कर दिया था।



इसके बाद कर्मचारी चयन आयोग ने पुलिस अधीक्षक मंडी को रिमाइंडर भेजकर शीघ्र इस मामले की स्टेटस रिपोर्ट देने को कहा था, ताकि आयोग जेओए भर्ती मामले में उचित निर्णय ले पाए। 11 मई को जेओए भर्ती मामले में प्रदेश कार्मिक विभाग के प्रधान सचिव प्रबोध सक्सेना की अध्यक्षता में एक महत्वपूर्ण बैठक हुई।

उत्तर पुस्तिकाओं की स्कैनिंग के लिए बुलाए विशेषज्ञ
आयोग ने उत्तर पुस्तिकाओं की स्कैनिंग के लिए विशेषज्ञों का पैनल तैयार कर लिया है। इससे पहले प्रश्नपत्रों की उत्तर कुंजी के लिए आपत्तियां आमंत्रित की गईं। आपत्तियों के ऊपर आयोग को विशेषज्ञों की उपस्थिति में निर्णय करना है। इसके बाद फाइनल परीक्षा परिणाम घोषित किया जाएगा।


उधर, चयन आयोग के सचिव डॉ. जितेंद्र कंवर ने कहा कि एसआईटी की रिपोर्ट में पेपर लीक होने की पुष्टि नहीं हुई है। केवल दस लोगों को नकल के मामले में उनकी उम्मीदवारी रद्द की गई है। तीन लोगों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज है। उन्होंने कहा कि सरकार से परिणाम घोषित करने की मंजूरी मिल गई है। 

 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहांक्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमेंगूगल न्यूज पर फॉलो करें।