इश्क की खतरनाक कहानीः प्रेमी संग मिलकर महिला ने 3 बच्चों और पति को जलाकर मारा

जिला चम्बा के उपमंडल चुराह में हुए अग्निकांड में बड़ा खुलासा हुआ है। घटना में जान गंवाने वाले शख्स की पत्नी ने ही अपने प्रेमी के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था।
 | 
Churah fire

चम्बा। जिला चम्बा के उपमंडल चुराह में हुए अग्निकांड में बड़ा खुलासा हुआ है। घटना में जान गंवाने वाले शख्स की पत्नी ने ही अपने प्रेमी के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था। बच्चों की मां का गांव के ही जमात अली के साथ प्रेम प्रसंग था। और वे दोनों साथ में रहना चाहते थे। इसके बाद दोनों ने मिलकर पहले प्लान बनाया। उसके बाद घर में आग लगाई, जिससे कि वो सभी रास्ते से हट जाएं और किसी को शक भी ना हो।


14 सितंबर को चुराह उपमंडल के करातोट गांव के घर में आग लगने से 3 बच्चों और पिता की मौत हो गई थी। सभी इसे एक हादसा समझ रहे थे। इसमें सिर्फ पत्नी बच गई थी। उसे अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया था। महिला ने अपने 26 वर्षीय पति मोहम्मद, सबसे बड़े 6 वर्षीय बेटे जैतून, उससे छोटे 4 साल के बेटे समीर और सबसे छोटी डेढ़ साल की बेटी जुलेखा को बड़ी चालाकी से मौत के घाट उतार दिया।
 

पुलिस जांच में पता चला है कि शादी से पहले युवक महिला को प्यार करता था और उसके साथ शादी करना चाहता था, लेकिन महिला की शादी मोहम्मद रफी से हो गई। इसके बाद आरोपी जमात अली (24) लगातार महिला मृतक की पत्नी भूरा (26) से बात करता रहता था। कहता था कि वह उसे (रफी को) छोड़कर उसके पास आ जाए। 


पुलिस पूछताछ में महिला ने बताया कि जमात अली उससे यह भी कहता था कि इसके (रफी के) पास क्या है? मेरे पास इससे ज्यादा भेड़-बकरियां हैं और ज्यादा अमीर हूं। मैं तुझे प्यार भी करता हूं तो इन सब को छोड़कर मेरे पास आजा। हम इकट्ठे रहेंगे। आरोपी युवक दो तीन बार गांव में भी आया और महिला से भी बात की। वहीं, युवक का यह भी कहना है कि महिला ने ही उससे कहा था कि वह पूरे परिवार को खत्म कर दे, ताकि दोनों साथ रह सके।

 
चारों के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टरों को शक हुआ। जिसके बाद बारीकी से जांच की गई तो ये खुलासा हुआ कि चारों की मौत जलने से नहीं हुई ये एक हत्या की ओर इशारा कर रही थी। जिसके बाद पुलिस ने महिला से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सब उगल दिया। पुलिस ने मृतक के पिता के बयान दर्ज किए। इसके बाद मृतक की पत्नी भूरा और करातोट गांव के जमात अली को गिरफ्तार किया। आरोपियों को शनिवार को कोर्ट में पेश किया गया था। इसके बाद ही ने 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया था।


जिस वक्त घर में आग लगी उस वक्त एक युवक वहां मौजूद था। उसने घर की खिड़की तोड़कर लोगों को बचाने की कोशिश की। जिसके बाद आसपास के लोग भी जमा हो गए और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। लेकिन तब तक चारों की मौत हो चुकी थी। मृतक के परिवार को शक हुआ था उन्होंने मामले में निष्पक्ष जांच की मांग उठाई थी।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।