जे एंड के शिक्षक हत्या मामले में राष्ट्रपति कार्यालय का एक्शन

राष्ट्रपति कार्यालय ने विजय हीर की अपील संख्या पीआरएसईसी //2021/28446 को जम्मू कश्मीर सरकार की प्रशासनिक अधिकारी रेहाना बतूल को भेजा है ताकि इस मामले में जम्मू-कश्मीर की सरकार तत्काल कार्यवाही  करें  
 | 

हमीरपुर ।  तिरंगे को सलाम करने हेतु बच्चों को प्रेरित करने वाले शिक्षकों आतंकियों द्वारा मारे जाने के मामले में शिक्षक वर्ग में खासा रोष है । इस मामले में शिक्षक विजय हीर ने महामहिम राष्ट्रपति से कार्यवाही की गुहार लगाई थी ताकि पीड़ित परिवारों को एक करोड़ मुआवज़ा देकर मारे गए शिक्षकों को शहीद का दर्जा दिया जाए और उनकी हत्या का बदला लेने हेतु त्वरित कार्यवाही की अपील की थी । आज राष्ट्रपति कार्यालय ने विजय हीर की अपील संख्या पीआरएसईसी //2021/28446 को जम्मू कश्मीर सरकार की प्रशासनिक अधिकारी रेहाना बतूल को भेजा है ताकि इस मामले में जम्मू-कश्मीर की सरकार तत्काल कार्यवाही  करें । 

यह जानकारी देते हुए विजय हीर ने बताया कि तिरंगे का सम्मान सिखाने वाले शिक्षकों की हत्या अति निंदनीय है और राजकीय टीजीटी कला संघ इसकी कड़ी निंदा करता है । संघ ने 15 अगस्त को बड़ा भंगाल में स्वतन्त्रता दिवस मनाने हेतु उठाए गए जिलाधीश कांगड़ा के प्रयास को सलाम करते हुए उनको तिरंगा भेंट किया था और देश की शान तिरंगा है जिसके लिए शहीद शिक्षकों को राजकीय सम्मान और शहीद का दर्जा भी मिलना चाहिए । 

हीर ने कहा कि उन्होने महामहिम से अपील की है कि उड़ी की तर्ज़ पर उन आतंकियों को सबक सिखाया जाए जिन्होने ये दुस्साहस करते हुए सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ा है । इस मामले में गृह मंत्रालय को भी ज्ञापन भेजा गया है ताकि तिरंगे का सम्मान करने वाले समुदाय का हौंसला और मनोबल ऊंचा बना रहे ।
 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक  करें। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।